राशन घोटाले में कंचनपुर युवा परिषद ने की जाँच की माँग

इंडिया 2डे न्यूज़ पोर्टल (आपके साथ) जबलपुर। एक तरफ शहर कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से युद्ध स्तर पर तैयारी कर संघर्ष कर रहा हैं। वहीं इस विपरीत परिस्थितियों में पीडीएस राशन दुकान संचालक द्वारा राशन देने में लापरवाही का मामला उजागर हुआ हैं। कंचनपुर युवा परिषद ने निर्मलचंद्र जैन वार्ड अंतर्गत आरती महिला उपभोक्ता सहकारिता भंडार‌ पर राशन के घोटाले के गंभीर आरोप लगाए गए हैं। साथ ही शिकायत पत्र के माध्यम से दुकान संचालक की जाँच कराकर उचित कार्रवाई की माँग की हैं।

क्या हैं मामला

शिकायतकर्ता रिक्की यादव ने बताया कि शासन द्वारा 25 श्रेणियों में आने वाले जरूरतमंदो को राशन दुकान से राशन उपलब्ध कराया जा रहा हैं। लेकिन राशन दुकान क्रमांक 3516289 द्वारा जरूरतमंद के अनुमति के बिना राशन का वितरण किया जा रहा हैं। और सूची में नाम शामिल होने के बावजूद राशन नही दिया जा रहा हैं।

                   (शिकायत पत्र)

अगर शासन ने यह गाईड लाईन कर दी तैयार तो खत्म हो जाएगी थैलेसीमिया की बीमार, सामाजिक कार्यकर्ता करते आ रहे हैं मांग

अगर शासन ने यह गाईड लाईन कर दी तैयार तो खत्म हो जाएगी थैलेसीमिया की बीमार, सामाजिक कार्यकर्ता करते आ रहे हैं मांग

इंडिया 2डे न्यूज़(आपके-साथ) देश-दुनिया। आज विश्व थैलेसीमिया दिवस है, यह दिवस इसलिए मनाया जाता है, ताकि थैलेसीमिया बीमारी की जानकारी प्रत्येक व्यक्ति को हो और इस बीमारी से आने वाली पीढिय़ों को बचाया जा सके। हर वर्ष विश्व थैलेसीमिया दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम होते हैं, लेकिन इस वर्ष देश कोरोना के संकटकाल से जूझने के चलते ऐसा कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं हो पा रहा है, लेकिन थैलेसीमिया पीडि़तों के लिए काम करने वाली तमाम सामाजिक संस्थाओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से सभी को जागरूक करने का काम जरूर किया है।

अगर सरकार व प्रशासन के द्वारा यह अनिवार्य कर दिया जाए तो खत्म होगी बीमारी
————
:- कुण्डली मिलान की तरह परिजन युवक व युवती की थैलेसीमिया की जांच आवश्य करवाएं।
:- स्कूल व कॉलेज में प्रवेश के पूर्व थैलेसीमिया की जांच रिपोर्ट सलंग्न करना अनिवार्य किया जाए।
:- गर्भधारण करने वाली महिला की अनिवार्य रूप से थैलेसीमिया की जांच की जाए।
:- गर्भधारण के बावजूद अगर संबंधित डॉक्टर द्वारा थैलेसीमिया की जांच अनिवार्य नहीं की जाती है और थैलेसीमिया से ग्रसित होकर नवजात शिशु का जन्म होता है तो संबंधित डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही की जाए।
:- विवाह प्रमाण पत्र के साथ थैलेसीमिया की जांच रिपोर्ट अनिवार्य की जाए।
:- प्रत्येक जिला अस्पतालों में नि:शुल्क थैलेसीमिया की जांच की व्यवस्था की जाए।
:- थैलेसीमिया से पीडि़तों के लिए प्रत्येक सरकारी अस्पताल में अलग से सर्वसुविधायुक्त थैलेसीमिया वार्ड बनाया जाए।
:- थैलेसीमिया पीडि़तों को 100 प्रतिशत की विकलांगता प्रमाण का लाभ दिया जाए।
:- थैलेसीमिया पीडि़तों को सरकारी नौकरी में लाभ दिया जाए।
:- थैलेसीमिया पीडि़तों को लगने वाले प्रत्येक यूनिट ब्लड नि:शुल्क दिए जाने की व्यवस्था की जाए।
:-थैलेसीमिया से पीडि़तों के लिए बीएमटी बोन मेरो ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया सरल करते हुए आसानी से इस उपचार का लाभ दिलवाए जाने की दिशा में कार्य किया जाए।
:- शासन द्वारा थैलेसीमिया के जनजागरण के लिए व्यापक पैमाने में अभियान चलाया जाए।

इनका कहना है
————
शासन से हम लम्बे समय से मांग करते हुए आ रहे हैं, अगर हमारी मांगों पर ध्यान दिया जाता तो आज नए थैलेसिमीया के मरीजों को आने से रोक दिया जाता और बीमारी खत्म होने लगती। हम अपने मिशन को लेकर सक्रिय हैं, हमारी मांगें एक न एक दिन पूरी होंगी।


विकाश शुक्ला, माँ रेवा रक्तदान एवं मानव सेवा।

जागरूकता की कमी होने के कारण थैलेसीमिया से पीडि़तों के संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है, जो कहीं न कहीं हम सभी सामाजिक संस्थाओं और प्रशासन की सबसे बड़ी नाकामी है, इसको रोकने के लिए सरकार को कारगर कदम उठाना चाहिए।


सरबजीत सिंह नारंग, दिशा वेलफेयर सोसायटी।

 

थैलेसीमिया पीडि़तों को ब्लड उपलब्ध करवाए जाने के साथ-साथ हम हैं न फाउण्डेशन अपनी खुशी पहल के तहत उनके बीच में हर किसी का जन्मदिवस, वर्षगांठ आदि शुभअवसर पर खुशियां बांटने का प्रयास करते हुए उन्हें खुशियां देने का काम करता है।


रत्नेश राय, सदस्य, हम हैं न फाउण्डेशन।

थैलेसीमिया से पीडि़तों को हर संभव हर स्तर पर मदद करने का काम सभी संस्थाओं के सहयोग से किया जाता है, सभी संस्था का प्रयास  होता है कि हमेशा इन बच्चों के काम उनका सेवा कार्य आ सके।


सी के ठाकुर, पदमा फाउण्डेशन।

थैलेसीमिया से ग्रसित बच्चों का जीवन का आधार ही केवल मात्र ब्लड होता है, इसलिए हम सभी का यह प्रयास होता है कि उनको किसी भी हाल में ब्लड उपलब्ध हो, इसके लिए हम सभी कार्य करते हैं।


अजय घोष, अनुश्री वेलफेयर सोसायटी।

 

थैलेसीमिया से पीडि़तों की मदद करना ही हमारा दायित्व है, हम इस बीमारी से पीड़ितों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं, क्योंकि इनके चेहरे की मुस्कराहट ही हमारी सेवा होती है।


डॉ विवेक जैन, मुक्ति फाउण्डेशन।

हिस्‍सेदारी बेचने के सरकार के फैसले से LIC कर्मचारी नाराज, करेंगे हड़ताल

इंडिया 2डे न्यूज पोर्टल (आपके-साथ) देश-दुनिया। भारतीय जीवन बीमा निगम के कर्मचारी केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  के उस बजटीय प्रस्ताव के खिलाफ चार फरवरी को एक घंटे की राष्ट्रव्यापी हड़ताल करने की घोषणा की है, जिसमें उन्होंने एलआईसी में सरकार की एक हिस्सेदारी बेचने की बात कही है. जीवन बीमा निगम कर्मचारी एसोसिएशन के कोलकाता डिविजन के उपाध्यक्ष प्रदीप मुखर्जी ने कहा, “हम मंगलवार को सवा 12 बजे से सवा एक बजे तक एक घंटे की हड़ताल करेंगे. हम उसके बाद अपने सभी कार्यालयों में प्रदर्शन भी आयोजित करेंगे.” उन्होंने कहा, “उसके बाद हम सड़क पर उतरेंगे और इस कदम का विरोध करेंगे. हम सभी सांसदों के पास भी जाएंगे. एलआईसी (LIC) के आंशिक विनिवेश के प्रस्ताव को राष्ट्रहित के खिलाफ बताते हुए मुखर्जी ने कहा कि यह कंपनी इस समय पूंजी के मामले में भारत की सबसे बड़ी वित्तीय कंपनी है, जो भारतीय स्टेट बैंक को भी पीछे छोड़ चुकी है. ऑल इंडिया इंश्योरेंस इम्प्लाईज एसोसिएशन (एआईआईईए) ने भी सरकार के इस कदम का विरोध करते हुए कहा है कि पहले तीन या चार फरवरी को एक घंटे की हड़ताल की जाएगी. एआईआईईए के महासचिव श्रीकांत मिश्रा ने चेन्नई में कहा, “हम इस कदम के खिलाफ हैं. पहले हम तीन या चार फरवरी को एक घंटे की हड़ताल करेंगे, और उसके बाद अपनी आगे के कदम के बारे में निर्णय लेंगे.”

 

 

\

 

 

 

Advertisement


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा वर्ष 2020 के शासकीय कैलेण्डर और डायरी का विमोचन

इंडिया 2डे न्यूज़ , आपके साथ ।।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज मंत्रालय में मध्यप्रदेश शासन की वर्ष 2020 की डायरी और कैलेण्डर का विमोचन किया। इस मौके पर मंत्री-मंडल के सदस्य उपस्थित थे।

शासकीय कैलेण्डर की विषय वस्तु सरकार द्वारा पिछले एक वर्ष में जनहित में किए गए कार्यों पर केन्द्रित है। इन उपलब्धियों से प्रदेश और यहाँ के नागरिक लाभांवित हुए हैं।

दिग्विजय सिंह का हमला, कहा- CAA के बाद PM मोदी और शाह ने खो दिया लोगों का भरोसा

        ।।  इंडिया 2डे न्यूज़ , आपके साथ ।।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि सीएए के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने देश के लोगों का भरोसा खो दिया है।…

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देश के लोगों का भरोसा और विश्वास खो दिया है।दिग्विजय सिंह ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह विश्वास और विश्वास का सवाल है। मोदी जी ने ‘सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास’ कहा था। आज मोदी और अमित शाह ने लोगों का ‘विश्वास’ (विश्वास) खो दिया है।’ दिग्विजय सिंह ने ये बातें संवाददाताओं से नए नागरिकतता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे विरोध पर कही।

नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से हिंदुओं, सिखों, जैनियों, पारसियों, बौद्धों और ईसाइयों को नागरिकता देता है, जो 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले भारत आए थे। दिग्विजय सिंह और पार्टी के कई अन्य नेता यहां अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) कार्यालय में कांग्रेस स्थापना दिवस समारोह में भाग लेने के लिए नई दिल्ली में मौजूद हैं।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा, आज हम भारत में सभी विभाजनकारी ताकतों से लड़ने की प्रतिबद्धता के साथ कांग्रेस स्थापना दिवस मना रहे हैं। भारत माता की जय, कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद।

सेना ने दिखाया हाई जोश, भारी बर्फबारी में फंसे 1500 से अधिक लोगों को बचाया

इंडिया 2डे न्यूज़ , आपके साथ ।। भारतीय सेना के जवानों ने सिक्किम में नाथू ला के पास भारी बर्फबारी में फंसे 1500 से अधिक पर्यटकों का रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और उन्हें बचाया।…

सिक्किम में भारतीय सेना ने भारी बर्फबारी के बीच फंसे 1500 से अधिक पर्यटकों को बचाया है।सिक्किम में जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर भारी बर्फबारी के बाद वहां फंसे हुए लगभग 1500 पर्यटकों को भारतीय सेना द्वारा बचाया गया है। लो विजिबिलिटी और खराब मौसम के बावजूद सेना ने 27 दिसंबर को बचाव अभियान चलाया।

फंसे हुए पर्यटकों को मौसम और ऊंचाई पर उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भोजन, आश्रय, गर्म कपड़ों और दवाओं सहित राहत प्रदान की गई। भारतीय सेना के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि लगभग 300 टैक्सियों में यात्रा कर रहे ये पर्यटक शुक्रवार शाम को नाथू ला दर्रा – त्सोमगो झील से लौट रहे थे और जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए थे।

सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों सहित फंसे हुए पर्यटकों को आर्मी कैंप के 17वें मील में रखा गया है। सेना ने जेसीबी और डोजर्स को बर्फ हटाने और जल्द से जल्द सड़क संपर्क बहाल करने के लिए प्रदान किया।लोगों को बचाने की कवायद अभी भी जारी है और यह तब तक जारी रहेगी जब तक सभी फंसे हुए पर्यटकों को सुरक्षित रूप से राज्य की राजधानी गंगटोक तक नहीं पहुंचाया जाता।

एक बचाई गई पर्यटक मीणा ने कहा, ‘सेना ने तुरंत कार्रवाई शुरू की और पर्यटकों को बचाया।उन्हें 17th मील क्षेत्र में एक शिविर में लाया गया और भोजन और दवाइयां दी गईं। पर्यटकों को राज्य की राजधानी में स्थानांतरित करने की फिलहाल व्यवस्था की जा रही है।’

मौसम विभाग ने जताई बारिश की संभावना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, गंगटोक में अगले सप्ताह आसमान में बादल छाए रहने और बारिश होने की संभावना है।मौसम विभाग ने अपने अखिल भारतीय मौसम चेतावनी बुलेटिन में कहा है कि उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, असम, मेघालय, नागालैंड में घने कोहरे की वजह से घने कोहरे की संभावना है।

Bigg Boss 13 Update: शहनाज गिल के कैप्टंसी के दौरान घर के सदस्य सोते हुए आए नजर, परेशान हुई शहनाज गिल

इंडिया 2डे न्यूज़ , आपके साथ ।। 

Bigg Boss 13 Update मधुरिमा तुली और शहनाज गिल की लड़ाई दिन भर जारी रहती हैl …

बिग बॉस 13 में आज के एपिसोड में शहनाज गिल की कैप्टंसी नजर आती हैl घर के सभी सदस्य उन्हें परेशान करते हैं और कई बार सोते हुए पकड़े जाते हैंl इसके चलते मधुरिमा को बतौर कैप्टन शहनाज गिल दंड भी देती है और वह उनका मेकअप उनसे ले लेती हैl इसे लेकर मधुरिमा की बहस विशाल सिंह और शेफाली बग्गा से भी होती हैl

इसके पहले आज के एपिसोड में विशाल आदित्य सिंह को घर में भूत होने का एहसास होता है और वह उठकर जय श्रीराम, जय श्रीराम के नारे लगाते नजर आते हैंl इसके बाद पारस छाबड़ा कहते हैं कि वह रात में बाथरूम में जाने से डर गए थे और विशाल के साथ गए थे। मधुरिमा और शहनाज गिल की लड़ाई दिन भर जारी रहती हैl वहीं एक बार फिर सिद्धार्थ शुक्ला और आसिम रियाज़ की लड़ाई होती है और दोनों भिड़ जाते हैंl दोनों के बीच लड़ाई चलती रहती हैl इसी बीच मधुरिमा खाने के बर्तन धोने से मना कर देती हैंl

इस बात को लेकर शहनाज गिल और मधुरिमा के बीच भयंकर तू तू मैं मैं होती हैl शहनाज गिल की कैप्टंसी का पहला दिन, उनके लिए बहुत मुश्किल भरा साबित होता है। इसके बाद घर में एक फैशन शो का आयोजन होता हैl इसमें घर के सभी सदस्यों को रैंप वॉक देखने का मौका मिलता हैंl इसमें रश्मि देसाई, माहिरा शर्मा, शहनाज गिल और शेफाली बग्गा रैंप वॉक करते हैंl

इस शो को होस्ट पारस छाबड़ा करते हैंl वहीं जज के तौर पर आसिम रियाज और सिद्धार्थ शुक्ला होते हैं। इसके बाद घर के सभी सदस्य तैयारी करते हैं और शो के लिए तैयार होते हैंl पारस छाबड़ा शो शुरू करते हैंl शो के दौरान सवाल पूछने को लेकर सिद्धार्थ शुक्ला की रश्मि देसाई से फिर बहस हो जाती हैंl इस बार का बिग बॉस बहुत विवादित रहा हैंl

ठंड का कहर: पहाड़ से मैदान तक शीतलहर का प्रकोप, यूपी में 20 की मौत, हरियाणा में रेड अलर्ट

इंडिया 2डे न्यूज़ , आपके साथ ।। उत्तर प्रदेश में ठंड के कारण 20 लोगों की मौत हो गई तो झारखंड में चार लोग काल के शिकार बन गए। हरियाणा में रेड अलर्ट जारी करना पड़ा ।…

पहाड़ों पर बर्फबारी और शीतलहर के कारण मैदानी इलाकों में ठिठुरन बढ़ती जा रही है। रिकॉर्ड तोड़ ठंड के बीच दिल्लीवासियों ने मौसम की सबसे सर्द सुबह में आंखें खोलीं। हरियाणा में ठंड के कारण रेड अलर्ट जारी करना पड़ा तो उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार और झारखंड में भी जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी तीन दिन और इस हाड़ कंपकंपा देने वाली सर्दी का प्रकोप बना रहेगा। मैदानी इलाकों में बुरा हाल है।

यूपी में ठंड से 20 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में 20 लोगों की मौत हो गई तो झारखंड में चार लोग काल के शिकार बन गए। कोहरे कारण हुए हादसों में कई लोगों की जान गई है। रेल, सड़क और वायु यातायात बुरी तरह प्रभावित है।उत्तर प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार को निकली बेजान धूप लोगों को राहत नहीं दिला सकी। शाम होते-होते हवा ने गलन और बढ़ा दी। भीषण ठंड से सुलतानपुर में दो लोगों की मौत हो गई। भदोही में चार, जौनपुर में दो, आजमगढ़, मऊ व गाजीपुर में एक-एक लोग की मौत हो गई। प्रतापगढ़ में ठंड की वजह से एक व्यक्ति की मौत हो गई। प्रयागराज में दो लोगों ने ठंड से दम तोड़ दिया। मुरादाबाद में कोहरे से रेल और सड़क यातायात प्रभावित दिखाई दिया। रामपुर में दो महिलाओं की तथा सम्भल में एक व्यक्ति की ठंड से मौत हो गई।

राजधानी में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री गिरा

राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। दिन में खिली हल्की धूप भी ठिठुरन से राहत नहीं दिला पाई। शनिवार को न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस ही रहने की संभावना है। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर, बागपत, बिजनौर, हापुड़ जैसे जिलों में तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया तो मथुरा का न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। दोपहर बाद हल्की धूप निकलने से लोगों को थोड़ी राहत मिली, लेकिन दिन ढलते ही ठंड ने अपने आगोश में ले लिया। बंगाल में कोलकाता समेत कई जिलों में दिनभर बादल छाए रहे और कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई।

डल झील समेत अधिकतर जल स्रोत जम गए

बारिश के कारण झारखंड में तापमान तेजी से गिरा है। रांची से 65 किमी दूर पिपरवार में न्यूनतम तापमान दो डिग्री पर पहुंच गया। पहाड़ों पर जनजीवन बेहाल पहाड़ों पर ठंड से राहत मिलती नहीं दिख रही है। श्रीनगर समेत अधिकांश इलाकों में लगातार धूप निकल रही है, लेकिन तापमान लगातार नीचे गिर रहा है। डल झील समेत अधिकतर जल स्रोत जम गए हैं। पाइपलाइन में पानी जमने से पेयजल आपूर्ति प्रभावित हुई है। उत्तराखंड के जोशीमठ, पिथौराग़़ढ और मुक्तेश्वर में पारा शून्य से नीचे है, जबकि अल्मो़ड़ा और टिहरी में यह शून्य के करीब पहुंच गया। हिमाचल प्रदेश में धूप खिलने से लोगों को कुछ राहत मिली। केलांग, कल्पा, मनाली कुफरी, सुंदरनगर और सोलन में तापमान जमाव बिंदू नीचे दर्ज किया गया है।